IND vs ENG: चेन्नई की पिच पर सवाल उठाने वालों को स्टुअर्ट ब्रॉड ने दिया जवाब, कहा- पिच में कोई खराबी नहीं थी


भारत और इंग्लैंड के बीच चेन्नई के एमए चिदंबरम स्टेडियम में खेले गए दूसरे टेस्ट में इंग्लैंड की हार के बाद कई पूर्व इंग्लिश क्रिकेटरों ने पिच को लेकर सवाल खड़े किए थे. अब तेज गेंदबाज़ स्टुअर्ट ब्रॉड (Stuart Broad) ने चेन्नई की पिच पर सवाल उठाने वालों को माकूल जवाब दिया है. ब्रॉड ने कहा है कि भारत के साथ खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में मिली हार के बाद चेन्नई की पिच को दोष देना सही नहीं है. उन्होंने साथ ही कहा कि चेन्नई की पिच में कोई खराबी नहीं थी.

स्टुअर्ट ब्रॉड ने डेली मेल के लिए अपने कॉलम में लिखा, “हमारे नजरिए से दूसरे टेस्ट मैच की पिच की आलोचना करना सही नहीं है, घरेलू मैदान पर कुछ ऐसे ही मेजबान टीम को मदद मिलती है और आपका यह हक है कि आप इसका लाभ उठाएं. भारतीय टीम ने हमसे अच्छा खेल दिखाया, उनके पास काफी क्षमतावान खिलाड़ी हैं जबकि वो पिच हमारे लिए बिल्कुल अलग थी.”

इस तेज गेंदबाज ने आगे कहा, “हमने मैच में बेहतर प्रदर्शन नहीं किया. चेन्नई की पिच पर हम अपनी क्षमता के अनुसार नहीं खेले. हम नहीं चाहते कि खुद को बहुत ज्यादा इस मैच की वजह से निराश करें, मैच में भारत की टीम ने अच्छा खेल दिखाया.”

बता दें कि इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर माइकल वॉन और इयान बेल ने चेन्नई की पिच को बैटिंग के लिए काफी खराब बताया था. वहीं इंग्लैंड के सहायक कोच ग्राहम थोर्प ने इसे चुनौतीपूर्ण करार दिया था. स्पिनर्स के लिए मददगार इस पिच पर भारत ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 329 रन बनाए थे और इंग्लैंड को पहली पारी में 134 रनों पर ऑलआउट कर दिया था. इसके बाद दूसरी पारी में भारतीय टीम 286 रन बना सकी थी. वहीं इंग्लैंड की टीम अपनी दूसरी पारी में सिर्फ 164 रनों पर ढे़र हो गई थी और भारत ने यह टेस्ट 317 रन से जीत लिया था.

गौरतलब है कि दोनों टीमों के बीच तीसरा टेस्ट मोटेरा के सरदार पटेल स्टेडियम में 24 फरवरी से खेला जाना है, जो डे-नाइट टेस्ट मैच होगा. ब्रॉड का मानना है कि गुलाबी गेंद से होने वाले इस मैच में परिस्थितियां इंग्लैंड में पक्ष में रहेंगी.

यह भी पढ़ें- 

पूर्व भारतीय क्रिकेटर का दावा- भारत के लिए 100 टेस्ट खेलने वाले आखिरी तेज गेंदबाज होंगे इशांत शर्मा

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *