IND Vs ENG: टीम इंडिया के सामने है टेस्ट क्रिकेट में नया इतिहास लिखने की चुनौती


IND Vs ENG 1st Test Match: चेन्नई के चेपक मैदान पर इंडिया और इंग्लैंड के बीच खेला जा रहा पहला टेस्ट मैच आखिरी दिन बेहद ही रोमांचक स्थिति में पहुंच चुका है. टीम इंडिया के सामने पहले टेस्ट में जीत दर्ज करने के लिए इतिहास रचने की चुनौती है. इंग्लैंड ने इंडिया को आखिरी पारी में जीत के लिए 420 रन का विशाल लक्ष्य दिया है. टेस्ट क्रिकेट के 131 साल के इतिहास में कोई भी टीम इतने बड़े लक्ष्य को हासिल करने में कामयाब नहीं हो पाई है.

अगर भारत पहले टेस्ट में जीत दर्ज कर लेता है तो टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में यह सबसे बड़ा चेज होगा. टेस्ट क्रिकेट में आखिरी पारी में सबसे बड़ा लक्ष्य हासिल करने का रिकॉर्ड वेस्टइंडीज के नाम है. वेस्टइंडीज ने साल 2003 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथी पारी में 418 रन बनाकर जीत हासिल की थी.

दक्षिण अफ्रीका के नाम टेस्ट क्रिकेट में दूसरा सबसे बड़ा लक्ष्य हासिल करने का रिकॉर्ड दर्ज है. दक्षिण अफ्रीका ने 2008 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाप 414 रन का लक्ष्य हासिल किया था. टीम इंडिया 1976 में वेस्टइंडीज के खिलाफ चौथी पारी में 406 रन का रिकॉर्ड हासिल कर चुकी है.

इंडिया को लिखना होगा नया इतिहास

एशिया में हालांकि कभी भी आखिरी पारी में 400 से ज्यादा का लक्ष्य हासिल नहीं हो पाया है. वेस्टइंडीज की टीम ने बांग्लादेश के खिलाफ हाल ही में 395 रन का लक्ष्य हासिल किया है जो कि एशियाई जमीन पर अब तक हासिल किया गया सबसे बड़ा टारगेट है.

भारत की बात करें तो यहां आखिरी पारी में 387 रन का लक्ष्य हासिल हो पाया है. इंडिया ने साल 2008 में चेन्नई के चेपक मैदान पर इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी पारी में 387 रन का लक्ष्य हासिल किया था.

चेन्नई टेस्ट में आखिरी दिन टीम इंडिया के सामने 90 ओवर में 381 रन बनाने की चुनौती है. 420 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए इंडिया ने 39 रन के स्कोर पर एक विकेट गंवा दिया है. अगर चेन्नई टेस्ट में इंडिया इंग्लैंड को हराने में कामयाब हो जाती है तो टेस्ट क्रिकेट में नया इतिहास लिखा जा सकता है.

IND Vs ENG: इंग्लैंड के गेंदबाजी कोच ने किया बल्लेबाजों को बचाव, बताया इस पिच पर क्या मुमकिन नहीं

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *