IND vs ENG: भारत में जीतना है तो लेना होगा 8 साल पहले की जीत से सबक- जोस बटलर


January 31, 2021

भारत और इंग्लैंड के बीच 5 फरवरी से चेन्नई के एम.ए चिदम्बरम स्टेडियम में पहला टेस्ट मैच खेला जाएगा. इंग्लैंड के विकेटकीपर बल्लेबाज जोस बटलर का मानना है कि उनकी टीम भारत के खिलाफ उसी की धरती पर सीरीज जीत बड़ा उलटफेर कर सकती है. इसके लिए उन्हें 8 साल पहले भारत की जमीन पर मिली 2-1 की ऐतिहासिक जीत से प्रेरणा लेनी होगी.

भारत में बड़ी पारी का है महत्व

बटलर ने शनिवार को एक ऑनलाइन प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा,”8 साल पहले जब हम यहां खेलने आए थे तब हमारे मौजूदा कप्तान जो रूट ने उस दौरे पर अपना पदार्पण किया था. पूर्व कप्तान एलिस्टेयर कुक की अगुवाई वाली वह इंग्लैंड की सर्वश्रेष्ठ टीमों में से एक थी.” भारत में बड़ी पारी के महत्व पर जोर देते हुए बटलर ने कहा, इंग्लैंड में हालात तेज गेंदबाजी के अनुकूल होते है. यही वजह है की पहली पारी में 350 रन के स्कोर को अच्छा माना जाता है, लेकिन भारत में ऐसा नहीं है. यहां अच्छा स्कोर 600 रन से भी अधिक हो सकता है. बटलर ने कप्तान जो रूट की तारीफ करते हुए कहा, “टीम के प्रत्येक सदस्य को रूट के श्रीलंका में किए गए प्रदर्शन से सबक लेना चाहिए. जहां उन्होंने पहले टेस्ट में दोहरा शतक जड़ा और दूसरे टेस्ट में 180 रन की पारी खेली. उन्होंने दर्शाया कि हमें हालात का फायदा उठाना होगा और बड़ा स्कोर बनाना होगा.”

भारत की मजबूत टीम से मुकाबला करना चाहते हैं 

बटलर ने कहा, भारत अब टेस्ट क्रिकेट की मजबूत टीम है. हालांकि हाल में हुए ऑस्ट्रेलिया दौरे पर उसे अपने कई खिलाड़ियों की चोट के चलते कमजोर टीम खिलानी पड़ी थी, लेकिन वो आगामी श्रृंखला में भारत की सबसे मजबूत टीम से भिड़ना चाहेंगे. उन्होंने कहा की आगामी श्रृंखला में  इंग्लैंड का प्रदर्शन इस पर निर्भर करेगा कि रूट स्पिनरों के खिलाफ कैसी रणनीति बनाते हैं.

शुरुआती टेस्ट मैच का है हिस्सा 

बटलर शुरुआती दो टेस्ट मैच में खेल सकते है. हालांकि भारत के के खिलाफ इसके बाद होने वाली 5 टी-20 मुकाबलों की सीरीज के लिए उन्हें आखिरी दो टेस्ट में आराम दिया जा सकता है. आगामी टी-20 विश्व कप की तैयारियों के लिए इंग्लैंड कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती और बटलर विश्व कप में उनके प्रमुख खिलाड़ी होंगे.

दोनों ही टीमों के बीच खेले जायेंगे 4 टेस्ट मैच 

इस दौरे पर दोनों ही टीमों के बीच पहले 4 टेस्ट मैच खेले जायेंगे. इसके अलावा दोनों ही टीम आपस में 5 टी-20 और 3 एकदिवसीय मुकाबले भी खेलेंगी. दोनों ही टीमें वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल में अपना स्थान पक्का करने के  लिए अपना सब कुछ दांव पर लगाने के लिए प्रतिबद्ध होंगी.

यह भी पढ़ें 

पहली एशियाई ऑनलाइन निशानेबाजी चैंपियनशिप में भारतीय निशानेबाजों का दबदबा, चार स्वर्ण समेत 11 पदक किए अपने नाम

कोहली ने डेविड वॉर्नर की बेटी को तोहफे में दी अपनी जर्सी, वॉर्नर बोले थैंक यू विराट

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *