IND vs ENG 2nd Test: लाल नहीं काली मिट्टी की पिच पर खेला जाएगा दूसरा टेस्ट, जानिए कैसा होगा इसका मिजाज़


IND vs ENG 2nd Test: भारत और इंग्लैंड के बीच चार मैचों की टेस्ट सीरीज़ का पहला मैच चेन्नई के एमए चिदंबरम स्टेडियम की लाल मिट्टी वाली पिच पर खेला गया था. इस टेस्ट में इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी का फैसला किया था और पहली पारी में ही 578 रनों का विशाल स्कोर खड़ा कर दिया था. लाल मिट्टी की इस पिच पर पहले दो दिन गेंदबाजों को कोई मदद नहीं मिली थी, लेकिन तीसरे दिन से पिच पूरी तरह से बदल गई थी. चौथी पारी में भारतीय टीम इस पिच पर सिर्फ 192 पर ऑल आउट हो गई थी. ऐसे में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने दूसरे टेस्ट के लिए लाल की जगह काली मिट्टी की पिच पर खेलने का फैसला किया है.

जानिए कैसा होगा इसका मिजाज़

बता दें कि काली मिट्टी की पिच का मिजाज़ लाल मिट्टी की पिच से बिल्कुल अलग होगा. काली मिट्टी की पिच तेज़ गेंदबाज़ों के लिए मुफीद होगी. यहां तेज गेंदबाजों को नई गेंद से काफी मदद मिलेगी, साथ ही पिच में अच्छा खासा उछाल भी होगा. ऐसे में दोनों टीमें अपनी अपनी प्लेइंग इलेवन में एक अतिरिक्त तेज गेंदबाज को जगह दे सकती हैं. काली मिट्टी की इस पिच पर तेज गेंदबाज की बॉल पड़ कर काफी तेजी से निकलेगी. इसका मतलब हुआ कि यहां गेंद स्किड करेगी. सबसे बड़ी बात यह है कि काली मिट्टी की इस पिच पर गेंद ज्यादा टर्न नहीं होगी, ऐसे में स्पिनर्स को यहां काफी संघर्ष करना पड़ सकता है. वहीं लाल मिट्टी की पिच स्पिनर्स के लिए मददगार होती है.

पहले टेस्ट के बाद बीसीसीआई ने पिच क्यूरेटर को हटाया

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पहले टेस्ट में भारत की 227 रनों से हार के बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने चेन्नई के एमए चिदंबरम स्टेडियम के पि क्यूरेटर को हटा दिया है. अब भारतीय टीम प्रबंधन खुद स्थानीय ग्राउंडस्मैन वी रमेश कुमार के साथ पिच की देखरेख कर रहा है. हालांकि, रमेश ने इससे पहले कभी फर्स्ट क्लास क्रिकेट के लिए भी पिच तैयार नहीं की है. लेकिन अब रमेश को भारत और इंग्लैंड के बीच 13 फरवरी से होने वाले दूसरे टेस्ट के लिए काली मिट्टी की पिच तैयार करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है.

यह भी पढ़ें-

IND Vs ENG: दूसरे टेस्ट में ऐसी हो सकती है इंडिया की Playing 11, दो बदलाव होना तय

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *